बुधवार, अप्रैल 15, 2009

मोटापा असाध्य रोग तो हरगिज नहीं है।


नमस्कार डॉ साहब आज आप के ब्लॉग पर आया और आप के द्वारा दिए गए उपचारों को पढ़ा , मन मे आशा जाग्रत हुई की मै भी आप से अपने असाध्य रोग के बारे मे चिकित्सा प्राप्त करूं , डॉ साहब मै ३५ साल का व्यक्ति हूं और मोटापा नाम की बीमारी से ग्रस्त हूं , सभी प्रकार के कोर्स कर चुका हूं परन्तु किसी मे भी कोई कामयाबी नहीं मिली है / मै अपने बारे मे आप को विवरण भेज रहा हु यदि संभव हो तो मुझे इस बीमारी से छुटकारा दिले अब तक मे न जाने कितनी प्रकार की दवाई खा चुका हूं।
उम्र -३५ साल
वजन - ११० केजी
लम्बाई -५ फ़ुट १० इंच
कमर का घेरा - ४० इंच कृपया कोई जल्दी असरकारी और सुलभ चिकित्सा बताइये ।
अनाम
भाईसाहब आपने अपनी समस्या के साथ में जो विवरण दिया है और बताया है कि आप तमामोतमाम किस्म की दवाएं खा चुके हैं लेकिन प्रसन्नता है ये देख कर कि आप अभी भी आयुर्वेद को मौका देना चाहते हैं और निराश नहीं हुए हैं। आप निम्न दवाओं को लीजिये-
१. त्रिमूर्ति रस एक गोली + मेदोहर गुग्गुलु दो गोली + त्रयूषणादि लौह दो रत्ती(२५० मिलीग्राम) इनकी एक मात्रा बनाएं व दिन में इस तरह तीन बार इस मात्रा का सेवन मेदारि पेय के दो चम्मच के साथ करें।
शेष आप भली प्रकार से जानते हैं कि आपको क्या खाना है और क्या नहीं। इस औषधि को कम से कम तीन माह बिना रुके लीजिये आप यकीन मानिये कि चमत्कारिक लाभ होगा आप स्वयं ही हमें बताएंगे कि ये कैसे हो रहा है पर ध्यान रहे कि औषधियों की शुद्धता अनिवार्य है। आप एक बात तो मान ही लीजिये कि मोटापा असाध्य रोग तो हरगिज नहीं है।

3 आप लोग बोले:

समयचक्र - महेन्द्र मिश्र ने कहा…

आज आप के ब्लॉग का सूक्ष्म अवलोकन किया जानकर बहुत अच्छा लगा कि आप ब्लाग के माध्यम से असाध्य रोगों के बारे में पाठको को जानकारी दे रहे है एक प्रकार से आप मानव सेवा कर रहे है . आपके इस ब्लॉग कि लिंक मई अपने फेवरेट लिंक में लगा रहा हूँ . आभार.
महेन्द्र मिश्र
जबलपुर.

india ने कहा…

aap ki amulay salah kay liye aap ko hardic dhanyvad

Naveen Kumar Radhe ने कहा…

dear sir.. meri umra 20 saal ki hai sir ji.. meri lambai 5.2 inch ki hai, jo ki char saal se lambai mein koi fark nahi hua hai..sir meri lambai nahi badh rahi hai... Aap sabhi ka samadhan kiye hai aap hame bhi is samshya se chhutkara dilaiye.....SIR PLS... THANQ...