शुक्रवार, फ़रवरी 28, 2014

सेक्स की कमजोरी बहुत ही ज्यादा है......

प्र. आदरणीय डाक्टर जी मै ३२ साल का हूं । पहले सब ठीक ठाक चल रहा था फिर धीरे धीरे मेरी सेक्स पावर कम होने लगी वो बढाने के चक्कर में दोस्तों की सलाह पर और पेपर से एड देखकर मैने सेक्स पावर बढाने की दवा खानी शुरू कर दी पहले तो बहुत अच्छा लगा मगर धीरे धीरे मुझे बहुत ज्यादा कमजोरी लगने लगी अब तो ये हाल है कि सेक्स की न ईच्छा होती है और अगर हुयी भी तो तनाव आते ही चिपचिपा सा पदार्थ निकलने लगता है और तनाव खत्म हो जाता है। मै अपनी बीमारी से बुरी तरह तंग आ चुका हूं मेरा किसी काम मे मन नही लगता क्या मैं ठीक हो सकता हूं ?
                                                                        इन्द्र्जीत सिंह ३२ साल अजमेर राजस्थान से
उ> जी क्यों नही ठीक हो सकते बिल्कुल हो सकते हैं । सबसे पहली बात तो नकारात्मक मत सोचिये जब्सकारात्मक सोचेंगे तो परिणाम भी सकारात्मक मिलेंगे हो सकता है आपने ईलाज वगैरह किया हो और दवा फायदा नही करी हो किन्तु कोई भी दवा काम न ये तो नही हो सकता जब हम प्रयास ही करना बन्द कर देंगे तो फिर तो समस्या कभी खत्म होने का सवाल ही नही हैं ।अब समस्या हमारी है तो हल भी हमे ही खोजना होगा कोई आसमान से भोलेनाथ तो आने वाले नहीं दवा की थैली लेकर भगवान हमें साहस और विवेक देता है उसका ईस्तेमाल कीजिये  हिम्मत रखिये और सबसे बडी बात जिस किसी भी आप दवा ले अगर आप को उसकी बात जंचती हो तो पक्का विश्वास करके चिकित्सा शुरू कीजिये आप जरूर ठीक हो जायेंगे नीचे लिखी दवाये लीजिये बना लीजिये और विधी पूर्वक सेवन कीजिये और नये जीवन की शुरूआत कीजिये ।
                                                

१.सुबह सुबह खाली पेट आंवला एलोवीरा का रस मिलाकर १० -१० मिली एक गिलास पानी मे लें
२. विधारा ,असगन्ध,गोखरू १०-१० ग्राम मुलहठी १५ ग्राम मकरध्वज आधा ग्राम वंग भस्म लौह भस्म १-१ ग्राम सभी को एक शीशी में भर लें
गाय के दूध में मिश्री मिलाकर एक ग्राम पियें
३.तुलसी के बीज ,काली मूसली के बीज ,तुलसी के पत्ते २-२-१ के अनुपात में ले लें तीनो को घोंट लें फिर तुलसी के पत्ते डालकर थोडा जल मिलाकर घोंटे और शहद से चाटें ।
४.तुलसी की जड को पानी में घिस कर लिंग पर लेप करें
५.गोखरू,असगन्ध, कौंच के बीज , सफेद मूसली, मुलहठी, खिंरेटी और गंगरेन की छाल २०-२० ग्राम ३ ग्राम मीठे दूध से पीजिये पीजिये ।
६>अश्वगंधा तेल १० ग्राम + मालकांगनी तेल १० ग्राम + श्रीगोपाल तेल १० ग्राम + लौंग का तेल २ ग्राम + निर्गुण्डी का तेल १० ग्राम इन सब को मिला कर इसमें केशर १ ग्राम + जायफल २ ग्राम + दालचीनी २ ग्राम । इन सबको कस कर घुटाई कर लें तो क्रीम की तरह बन जाएगा। इसे किसी मजबूत ढक्कन की काँच या प्लास्टिक की चौड़े मुँह की शीशी में रख लीजिये। इसे नहाने के बाद अंग सुखा कर भली प्रकार हल्के हाथ से मालिश करते हुए अंग में जाने दें। लगभग दस मिनट में यह क्रीम लिंग में अवशोषित हो जाएगी। इस प्रकार यदि दिन में समय मिले तो दो बार क्रीम लगाएं।
यदि आप लगभग तीन माह तक इस प्रयोग को करें तो स्थायी लाभ होगा।

 यदि कोई भी शंका या परेशानी हो तो आप सीधे मुझसे ई-मेल (aayushved@gmail.com) या मोबाइल नंबर 09224359159 पर संपर्क करें। जीवन में मन की शक्तियों का इस्तेमाल हमें जरूर करना चाहिये कैसे ? जानने के लिये देखिये मेरी लिखी दूसरी वेबसाईट बस इस लिंक पर click करें । www.mindhypnotism.com



0 आप लोग बोले: