बुधवार, मई 08, 2013

सेक्स की अजीब समस्या

प्र. डाक्टर साहब मैं एक अजीब तरह की समस्या में फंस गया हूँ ।अनचाहे ही बिना मेरी इच्छा के मेरा वीर्य निकल जाता है।जोर से खाँसी आयी तो भी वीर्य स्खलित हो जाता है, जरा सा भी कोई अशलील विचार दिमाग में आया कि चिपचिपा सा पदार्थ लिंग से निकलने लगत है प्लीज कोई अच्छी सी दवाई बतायें दिन प्रतिदिन मै बेहद कमजोर होता जा रहा हूँ। आपका जीवन भर आभारी रहूँगा।                    
                                                          प्रदीप कुमार हरियाणा से आयु ३२ साल
.प्रिय प्रदीप जी, इस तरह की बीमारी में रोगी को कमर दर्द की शिकायत ,हाथ पाँव दुखना, खाने के बाद आलस आना,मलावरोध होना, पेट में गैस बनना, चेहरे की रौनक खत्म हो जाना, मन में उदासीनता, आँखो के नीचे कालापन आ जाना, सेक्स के प्रति अरूचि लिंग का शिथिल रहना ,लिंग में नसों का उभर आना, अत्यधिक कमजोरी लगना, पेशाब के साथ वीर्य निकल जाना, अंड्कोश लटके हुये रहना हाथ पैर में जलन होना ।
हमेशा मन में निराशा के भाव रहना, किसी भी काम में मन ना लगना, आदि तमाम शारीरिक दोष पैदा हो जाते हैं।
मेरे तमाम जीवन का अनुभव है, कि भोलेभाले मासूम लोग जिन्हें सेक्स की सही जानकारी नही है,वो लोग चालबाज और ठग लोगों के जाल में फंसकर अपना धन और स्वास्थ गवां देते हैं,और अपने मन में धारणा बना लेते हैं ,कि मैंने अपना इतना इलाज करवाया पर कुछ फायदा नहीं हुआ और आगे भी नही होगा। फिर वे एक निराशा और हताशा से भरा जीवन जीने लगते हैं । नहीं ऐसा नही है आपको निराश होने की जरूरत नही है, मैं आपको यकीन दिलाता हूँ, कि आप बिल्कुल सही हो सकते हो बिल्कुल स्वस्थ हो सकते हो हजारों लाखों लोग स्वस्थ हुये हैं,तो आप क्यों नही हो सकते विश्वास कीजिये क्योंकि विश्वास पहली बात है विश्वास ही किसी चिकित्सा का मूल आधार होता है एक बार विश्वास हो जाये फिर काम बहुत आसान हो जाता है, आप नीचे लिखी औषधियाँ लेकर देखिये आप पायेंगे की आपका जीवन आनन्द से भरने लगा।
                         

१. अश्वगंधा,शुद्ध विजया,कौंचबीज तीनो को अच्छी तरह खरल कर लीजिये फिर एक कप दूध चार कप पानी चार चम्म्च शक्कर की लस्सी बनाकर २ ग्राम सुबह शाम लस्सी के साथ लीजिये।
२. यदि मलावरोध है तो विरेचन औषधियाँ लीजिये।
                                                                                        
३.अश्वगंधा तेल,निर्गन्डी तेल,श्रीगोपाल तेल,मालकांगनी तेल १०-१० मिली १ग्राम जायफल पाउडर, १ग्राम दाल्चीनी पाउडर,१० मिली लवंग तेल आधा ग्राम सोने की भ्स्म मिलाकर तेल बना लें और लिंग पर नहाने के बाद १० मिनट तक मालिश करें
| यदि कोई भी शंका या परेशानी हो तो आप सीधे मुझसे ई-मेल (aayushved@gmail.com) या मोबाइल नंबर 09224359159 पर संपर्क करें।

मानसिक शक्तियों के अनुभूत प्रयोग ,जीवन में मन की शक्तियों का इस्तेमाल हमें जरूर करना चाहिये कैसे ? जानने के लिये देखिये मेरी लिखी दूसरी वेबसाईट बस इस लिंक पर click करें । www.mindhypnotism.com

0 आप लोग बोले: