मंगलवार, अप्रैल 17, 2012

Angina pectoris के दर्द से परेशान हूँ, ऑपरेशन नहीं करवाना चाहता ।

सर जी मेरी उम्र बावन साल है और मुझे सीने में दर्द पर अस्पताल ले जाया गया। वहाँ कई टेस्ट करवाने पर डॉक्टर ने बताया के मुझे दिल की कमजोरी के कारण दर्द था। इसे उन्होंने एन्जाइना पेक्टोरिस नाम से बताया। जरा सी बात पर दिल इतनी तेजी से धड़कने लगता है जैसे पसलियाँ तोड़ कर बाहर आ जाएगा। इतनी भयंकर घबराहट होती है कि दो कदम भी नहीं चल सकता हूँ। ये पत्र अपने बेटे से लिखवा रहा हूं। रिपोर्ट्स साथ में भेज रहा हूं। कोई सटीक इलाज बताएं मैं कोई ऑपरेशन नहीं करवाना चाहता।
शंकर म. पवार
बोरिवली
भाई शंकर जी, आपने बहुत लंबा पत्र भेजा है एक एक लक्षण को विस्तार से लिखवाया है। रिपोर्ट्स मैंने देखी हैं आप परेशान न हों निम्न उपचार लीजिए-
१) नागार्जुनाभ्र रस एक गोली + हृदयार्णव रस एक गोली + प्रभाकर बटी एक गोली + अकीक पिष्टी एक रत्ती को मिला कर एक खुराक बनाएं। इस मात्रा को सुबह दोपहर शाम को अश्वगंधारिष्ट के दो दो चम्मच के साथ लीजिये।
२) अर्जुनारिष्ट दो चम्मच सुबह शाम पहली वाली दवा के आधे घंटे बाद लीजिये।
इस औषधि को दो माह तक लगातार लेने के बाद मुझे दोबारा रिपोर्ट्स भेजें व सम्पर्क करें यदि किसी भी प्रकार की परेशानी हो तो आप मुझे मेरे मोबाइल (09224359159) पर किसी भी समय या मेरे ईमेल aayushved@gmail.com पर संपर्क कर सकते हैं। यदि औषधियाँ मिलने में परेशानी हो तो सूचित करें ।
मानसिक शक्तियों के अनुभूत प्रयोग ,जीवन में मन की शक्तियों का इस्तेमाल हमें जरूर करना चाहिये कैसे ? जानने के लिये देखिये मेरी लिखी दूसरी वेबसाईट बस इस लिंक पर click करें । www.mindhypnotism.com

0 आप लोग बोले: