सोमवार, मार्च 19, 2012

मुझे पेट में duodenal ulcer हुआ है जिसके कारण मुझे जलता हुआ सा दर्द महसूस होता था


डॉक्टर साहब नमस्कार, मुझे पेट में बहुत परेशानी हुआ करती थी। मैंने डॉक्टरी जाँच करवायी तो मुझे बताया गया कि मुझे पेट में duodenal ulcer हुआ है जिसके कारण मुझे जलता हुआ सा दर्द महसूस होता था। काफी कमजोरी आ गयी है। पेट में अंदर कई जगह घाव हो गए हैं ऐसा डॉक्टर ने बताया है। मैं आपको अपनी रिपोर्ट्स भेज रहा हूं। आप रिपोर्ट देख कर आयुर्वेद की दवा बताएं ताकि मुझे जल्दी से आराम मिल सके। मेरी उम्र ४२ साल है और मैं मांसाहार पसंद करता हूं लेकिन जब से डॉक्टर ने मना करा है बंद कर दिया है। मैं ठीक तो हो जाउंगा न । दवाएं मंहगी हों तो भी चलेगा लेकिन मुझे पूरी तरह ठीक होना है। आप अपनी दवाएं दीजिये।
रोमेश बत्रा
मुरादाबाद
रोमेश जी आपकी रिपोर्ट्स देखीं हैं। आपकी खाने की आदत ने आपके स्वास्थ्य का सत्यानाश कर रखा है। आप ऐलोपैथी का उपचार लेकर स्वस्थ हो जाएंगे लेकिन जब तक आपका आहार-विहार नहीं बदलता आप दोबारा इन्हीं समस्याओं से परेशान रहेंगे। आप ऐसा मत सोचिए कि स्वास्थ्य पैसे की बात है। आप खुद सोचिए कि डेढ़ इंच की जीभ के स्वाद के लिये आप कितनी परेशानी उठा रहे हैं। आप निम्न उपचार लीजिये लेकिन अपनी जीभ पर सख्ती से नियंत्रण करिये कि मिर्च-मसालेदार भोजन, मांसाहार से परहेज कर सकें।
सूतशेखर रस १५ ग्राम + धात्री लौह २५ ग्राम + अम्लपित्तान्तक लौह १५ ग्राम + लीलाविलास रस २० ग्राम + आमलकी रसायन ३० ग्राम + स्वर्णमाक्षिक भस्म २५ ग्राम + प्रवाल पिष्टी २० ग्राम + अभ्रक भस्म शतपुटी १५ ग्राम + मुक्ताशुक्ति पिष्टी २५ ग्राम + जवाहरमोहरा खताई पिष्टी २५ ग्राम + गिलोयसत्व २५ ग्राम + अविपत्तिकर चूर्ण ६० ग्राम इन सभी बारह औषधियों को दी गयी मात्रा में मिला कर रख लीजिये और इसमें से दिन में तीन बार सुबह दोपहर शाम चाय का आधा चम्मच मिश्रित औषधि को आंवला स्वरस + गिलोय स्वरस + शहद(मिठास के लिये आवश्यकतानुसार) मिलाकर दो चम्मच के साथ लीजिये।
यकीन मानिये कि आपके डॉक्टर आश्चर्य करेंगे कि रोग किधर छूमंतर हो गया बस परहेज सख्ती से करिये। 
यदि कोई औषधि न मिले तो हमें भेजने को कहें अन्यथा स्वयं शुद्धता से निर्माण करें। आयुषवेद परिवार औषधियों का बाजारी उत्पादन नहीं करता बल्कि रोगी की जरूरत पर बनाया करता है। यदि कोई भी शंका या परेशानी हो तो आप सीधे मुझसे ई-मेल (aayushved@gmail.com) या मोबाइल नंबर 09224359159 पर संपर्क करें। जीवन में मन की शक्तियों का इस्तेमाल हमें जरूर करना चाहिये कैसे ? जानने के लिये देखिये मेरी लिखी दूसरी वेबसाईट बस इस लिंक पर click करें । www.mindhypnotism.com

0 आप लोग बोले: